February 24, 2024

हीचकी रोकने के उपाय 16 घरेलू उपाय जिनसे मिले हीचकी से मुक्ति.

हीचकी रोकने के उपाय
हीचकी रोकने के उपाय

क्या आप भी हिचकी से परेशान हैं और हीचकी रोकने के उपाय करके परेशान हो गए हैं, तो आपको निराश होने की जरूरत नहीं है क्योंकि आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको हीचकी रोकने के उपाय बताने जा रहे हैं। आज हम आपको 16 सरल घरेलू उपाय बताएंगे जिनका अगर आप नियमित रूप से उपयोग करते हैं तो आपको हीचकी से जीवन भर के लिए छुटकारा मिल सकता है।

हीचकी आना एक समान इसी समस्या है और यह समस्या किसी के साथ भी हो सकती है, अक्सर ऐसा देखा गया है कि जब हम ज्यादा जल्दी खाना खाते हैं या बहुत जल्दी पानी पीते हैं तब हमें हिचकी आती है। हिचकी रोकने के लिए आपने इंटरनेट में कई सारे घरेलू नुस्खे पड़े होंगे, पर हिचकी रोकने के जो उपाय आज हम आपको बताने जा रहे हैं इनके कुछ ही उपयोग से आपको हमेशा के लिए हिचकी से राहत मिलेगी. इन उपायों को करना काफी सरल है और इन्हें आप आसानी से अपने घर में भी कर सकते हैं।

अगर आप भी हिचकी की समस्या से अधिक रूप से पीड़ित हैं तो आपको इसे गंभीरता से लेने की जरूरत है कि कई बार अधिक हिचकी आना किसी गंभीर समस्या या बीमारी की वजह बन सकती है। तो आइए हीचकी रोकने के उपाय जानने से पहले जान लेते हैं कि हिचकी आने के मुख्य कारण कौन से होते हैं।

हीचकी आने के मुख्य कारण

हीचकी आने के मुख्य कारण
हीचकी आने के मुख्य कारण

डॉक्टरों के अनुसार हिचकी हमें तब आती है जब हमारे शरीर का डायाफ्राम सिकुड़ता है या उस पर दबाव पड़ता है डायाफ्राम हमारे शरीर की वह मांसपेशियां हैं जो हमारे छाती को हमारे पेट से अलग करती हैं। डायाफ्राम की मदद से ही हम सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया को पूरी कर पाते हैं। आयुर्वेद में भी हिचकी आने के कारण बताए गए हैं और आयुर्वेद के अनुसार हिचकी आने का मुख्य कारण है हमारे शरीर में कफ और वात का दोष।

अब तक तो आप समझ गए होंगे कि हमें हिचकी किस लिए आती है, अब चलिए जान लेते हैं कि हिचकी आने के मुख्य कारण कौन से होते हैं।

  1. अधिक तनाव या डिप्रेशन भी हिचकी का मुख्य कारण है।
  2. बहुत जल्दी खाना खाना या जल्दी पानी पीना।
  3. अधिक मात्रा में धूम्रपान या शराब का सेवन करना।
  4. अधिक मात्रा में सोडा युक्त पेय पदार्थ का सेवन करना।
  5. हमारे शरीर में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स का असंतुलन भी हिचकी का मुख्य कारण है।
  6. ज्यादा मसालेदार या तेल युक्त भोजन ग्रहण करना।
  7. बासी या ठंडे आहार का सेवन करना।
  8. गले में कफ का दोष।
  9. निमोनिया।
  10. किडनी की बीमारी।

तो यह थे कुछ मुख्य कारण जिनकी वजह से हमें हिचकी की समस्या होती है और जैसा कि हमने कहा पहले ही कहा था कि इसकी एक आम समस्या है जिससे आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। अगर आप हमारे द्वारा बताए गए उपायों को नियमित रूप से करते हैं तो आपको जीवन भर के लिए हिचकी से छुटकारा मिल सकता है।

1. तुरंत हीचकी रोकने के उपाय

तुरंत हीचकी रोकने के उपाय
हीचकी रोकने के उपाय

तुरंत हिचकी रोकने के लिए यह उपाय एक रामबाण उपाय है जिसके उपयोग से आपकी हिचकी तुरंत रुक जाएगी और अगर आपको हिचकी की अधिक समस्या है तो इस उपाय का नियमित उपयोग करने से आपकी हिचकी की समस्या हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी।

हिचकी रोकने के लिए इस उपाय को करना काफी सरल है इसे करने के लिए एक गिलास पानी में एक नींबू निचोड़ लें और उसमें चुटकी भर काला नमक मिलाएं और इसका सेवन करें। नींबू और काले नमक के इस मिश्रण का सेवन करने से आपकी हिचकी तुरंत रुक जाएगी।

और अगर आप हिचकी की समस्या से अधिक रूप से पीड़ित हैं यानी आपको बार बार हिचकी आती है तो रोज सुबह खाली पेट नींबू और काले नमक का सेवन हल्के गर्म पानी के साथ करें और एक बात का ध्यान रखें कि इसका सेवन करने के आधे या एक घंटे तक चाय या कॉफी ना पिए।

2. हीचकी रोकने के लिए अदरक और शहद का उपाय

हीचकी रोकने के लिए अदरक और शहद का उपाय

हीचकी रोकने के लिए आयुर्वेद के अनुसार अदरक और शहद को भी अति लाभकारी उपाय माना गया है। इस उपाय से भी आपको हिचकी से तुरंत राहत मिल सकती है।

अगर आपको सामान्य तौर पर हिचकी आती है यानी आपको कभी कभी हिचकी आती है तो ऐसी परिस्थिति में आप एक छोटा अदरक का टुकड़ा और एक चम्मच शहद का सेवन धीरे-धीरे चूस कर करने से आपकी हिचकी की समस्या तुरंत समाप्त हो जाएगी।

और अगर आप हिचकी की समस्या से जीवन भर के लिए छुटकारा पाना चाहते हैं तो रोज सुबह खाली पेट अदरक के रस में थोड़ी मात्रा में शहद मिलाकर इसका सेवन करें और इसका सेवन करने के बाद कुछ देर तक पानी ना पिए. नियमित रूप से इस उपाय को करने के बाद आप कुछ ही दिनों में देखेंगे कि आपकी हिचकी की समस्या जड़ से समाप्त हो गई है।

3. काली मिर्च और मिश्री के उपाय से पाएं हीचकी से मुक्ति

काली मिर्च और मिश्री के उपाय से पाएं हिचकी से मुक्ति

काली मिर्च और मिश्री एक ऐसी सामग्री है जो आमतौर पर हर घर में उपलब्ध होती है, पर क्या आप जानते हैं कि काली मिर्च और मिश्री का उपयोग करके आप हिचकी से भी मुक्ति पा सकते हैं।

अगर आप हिचकी की समस्या से तुरंत छुटकारा पाना चाहते हैं तो बराबर मात्रा में काली मिर्च और मिश्री को लेकर अच्छे से पीसकर मिला लें और हिचकी आने पर थोड़ी मात्रा में इस मिश्रण का सेवन करें। एक बात का विशेष ध्यान रखें कि इस मिश्रण का सेवन पानी के साथ ना करें और इस मिश्रण का सेवन करने के बाद भी कुछ देर तक पानी का सेवन बिल्कुल भी ना करें।

हिचकी की समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए काली मिर्च और मिश्री के इस मिश्रण का सेवन दिन में कम से कम 2 से 3 बार करें और 10 से 15 दिन के भीतर ही आप देखेंगे कि आपकी हिचकी की समस्या जड़ से समाप्त हो गई है।

4. हीचकी रोकने के घरेलू उपाय

हीचकी रोकने के घरेलू उपाय

हिचकी को रोकने के लिए यह घरेलू उपाय भी काफी लाभदायक होता है और इसे करना भी काफी सरल है। हिचकी की समस्या को तुरंत रोकने के लिए एक गिलास पानी में आधा नींबू निचोड़े और उसमें एक चम्मच शक्कर मिलाएं और इसका सेवन करें।

इस मिश्रण के सेवन करने से आपकी हिचकी तुरंत समाप्त हो जाएगी। हिचकी को तुरंत रोकने का यह काफी प्राचीन उपाय है जो आज भी भारत के कई गांव देहातों में उपयोग किया जाता है और इसके एक ही उपयोग से आपकी हिचकी तुरंत रुक जाती है।

क्या आप जानते हैं की हिचकी की समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए भी नींबू और शक्कर का उपयोग काफी कारगर सिद्ध होता है। रोज सुबह नाश्ता करने के बाद एक गिलास पानी में नींबू और शक्कर को मिलाकर पीकर ही घर से निकले और आप देखेंगे कि आपको दिनभर हिचकी की समस्या उत्पन्न नहीं होगी।

5. हीचकी रोकने के लिए हींग का उपाय

हीचकी रोकने के लिए हींग का उपाय

साधारण सी दिखने वाली हींग भी हिचकी रोकने के लिए काफी लाभदायक होती है। इस एक उपाय से आपकी हिचकी की समस्या भी समाप्त हो जाएगी और साथ ही आप का पाचन तंत्र भी मजबूत होगा।

हिचकी की समस्या को तुरंत समाप्त करने के लिए एक चम्मच शहद में एक चौथाई चम्मच हींग मिलाकर इसका सेवन करें। हिचकी रोकने का यह एक रामबाण और प्राचीन उपाय है जिसके एक ही प्रयोग से आप की हिचकी तुरंत समाप्त हो जाएगी और अगर आप हिचकी की समस्या को जड़ से समाप्त करना चाहते हैं तो फिर रोज सुबह खाली पेट इस मिश्रण का सेवन करें।

15 से 20 दिन के भीतर ही आपकी हिचकी की समस्या जड़ से समाप्त हो जाएगी।

6. हीचकी रोकने के लिए इलायची का उपाय

इलायची का उपाय
हीचकी रोकने के उपाय

जिस प्रकार इलायची हमारे भोजन का जायका बढ़ाती है ठीक उसी प्रकार इलायची का उपयोग करके भी आप हीचकी से राहत पा सकते हैं।

हिचकी को तुरंत या जड़ से खत्म करने के लिए 1 लीटर पानी में 4 से 5 इलायची डालकर अच्छी तरह से उबाल लें और उसके बाद इसे ठंडा कर लें। अब दिन में कम से कम 3 से 4 बार इस पानी का सेवन करें। इलायची का उपाय भी हिचकी रोकने में काफी लाभदायक होता है और इस एक उपाय से आपकी हीचकी की समस्या से आपको राहत प्राप्त होगा।

और अगर आप हीचकी की समस्या से अधिक रूप से पीड़ित हैं तो हमारी आपको सलाह होगी कि इस उपाय को कम से कम 20 से 25 दिन तक रोजाना करें इससे आपको हिचकी से काफी राहत प्राप्त होगा।

7. तुलसी के पत्तों से पाएं हिचकी से मुक्ति

तुलसी के पत्तों से पाएं हिचकी से मुक्ति

आप में से कई लोग तुलसी के औषधीय क्षमता को जानते ही होंगे, तुलसी एक ऐसी दिव्य औषधि है जिसके नियमित उपयोग से हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिससे हमारा शरीर रोगों से लड़ने में सक्षम हो पाता है. पर क्या आप जानते हैं कि तुलसी के उपयोग से आप हिचकी को भी तुरंत समाप्त कर सकते हैं और इस समस्या से हमेशा के लिए मुक्ति भी पा सकते हैं।

जब कभी भी आपको हिचकी का तुरंत समाधान पाना हो या आपको अत्यधिक हिचकी आ रही हो तो 10 से 12 तुलसी के पत्तों को तोड़ ले और उन्हें अच्छे से धो कर इनका अच्छे से चबाते हुए सेवन करें। और अगर आप इस समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पाना चाहते हो तो तुलसी के पत्तों का रस निकालकर शहद के साथ सेवन करने से हिचकी की समस्या से हमेशा के लिए मुक्ति मिलती है।

8. हीचकी को तुरंत रोकने के लिए सिरके का इस्तेमाल करें

सिरके का इस्तेमाल करें
हीचकी रोकने के उपाय

सिरका यानी विनेगर भी हिचकी रोकने में काफी सहायक होता है जिन लोगों को हिचकी के अधिक समस्या है उन्हें दिन में कम से कम एक बार एक चम्मच सिरके को एक गिलास पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए, हिचकी रोकने के इस उपाय से भी आप को काफी राहत प्राप्त होगा और अगर आप इस समस्या से हमेशा के लिए यानी जीवन भर के लिए छुटकारा पाना चाहते हैं तो इस उपाय को रोज सुबह उठते ही जरूर करें।

रोज सुबह खाली पेट सिरके और पानी का सेवन करने से भी हिचकी की समस्या समाप्त होती है।

9. पीनट बटर या मूंगफली और मक्खन का सेवन करें

पीनट बटर या मूंगफली और मक्खन का सेवन करें

जी हां पीनट बटर भी हिचकी को तुरंत रोकने में काफी लाभदायक होता है। जब कभी भी आपको हिचकी की समस्या से तुरंत राहत प्राप्त करना हो तो एक चम्मच पीनट बटर का सेवन करें इससे आपकी हिचकी तुरंत समाप्त हो जाएगी, पर अब भी हमारे भारत में कई जगह ऐसे हैं जहां पीनट बटर उपलब्ध नहीं है, तो ऐसी परिस्थिति में आप थोड़ी मात्रा में मूंगफली और आधा चम्मच मक्खन का सेवन कर सकते हैं यह भी एक रामबाण उपाय है हीचकी को तुरंत रोकने के लिए।

हीचकी रोकने के लिए इस उपाय को करने से पहले एक बात का विशेष ध्यान रखें कि अगर आपको मूंगफली से एलर्जी है तो इस उपाय का बिल्कुल भी प्रयोग ना करें।

10. बर्फ या ठंडे पानी का सेवन करें

बर्फ या ठंडे पानी का सेवन करें

हीचकी को तुरंत रोकने के लिए बर्फ या ठंडे पानी का सेवन भी तुरंत राहत देता है। अगर आप हिचकी को तुरंत बंद करना चाहते हैं तो थोड़ी मात्रा में बर्फ को लेकर उसका चुरा कर ले और उसके बाद इस बर्फ को धीरे धीरे चबाते हुए इसका सेवन करने से आपकी हिचकी तुरंत समाप्त हो जाएगी और आपके पास अगर बर्फ उपलब्ध ना हो तो हल्का ठंडा पानी धीरे-धीरे करके पिए इससे भी आपकी हिचकी तुरंत रुक जाएगी।

हिचकी रोकने के उपाय को करने से पहले एक बात का विशेष ध्यान रखें की अगर आप को गले में कफ की अधिक समस्या है या आपको अधिक खांसी की बीमारी है तो इस उपाय का उपयोग बिल्कुल भी ना करें।

11. नारियल तेल और कपूर से गले की मालिश करें

हिचकी को जड़ से खत्म करने के लिए नारियल तेल और कपूर का यह प्राचीन उपाय भी काफी कारगर है।

हिचकी को तुरंत या जड़ से समाप्त करने के लिए एक कटोरी नारियल तेल को हल्का गर्म कर लें और उसमें एक दो दाने कपूर के डाल कर अच्छे से मिला लें और जब तक कपूर पूरी तरह ना घुल जाए तब तक इस मिश्रण को मिलाते रहे। जब कपूर नारियल तेल में अच्छी तरह से घुल जाए तब इस तेल को ठंडा कर लें और इस तेल से गले पर अच्छी तरह मालिश करें।

इस उपाय को करने से भी हिचकी से काफी राहत प्राप्त होती है।

12. हिचकी रोकने के कुछ सरल घरेलू उपाय

अगर किसी कारण वर्ष हमारे द्वारा ऊपर बताए गए उपायों को करने में आप असमर्थ हैं तो आपको निराश होने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है आप नीचे बताए गए इन सरल घरेलू उपाय को करके भी हीचकी रोकने में सफल हो सकते हैं।

  1. हिचकी आने पर हल्का ठंडा पानी धीरे-धीरे करके पीने से हिचकी तुरंत रुक जाती है।
  2. दाल का पानी पीने से भी हीचकी में राहत मिलती है।
  3. हीचकी को तुरंत रोकने के लिए मिसरी या शक्कर का सेवन कर सकते हैं।
  4. अदरक का एक छोटा टुकड़ा मुंह में रखकर धीरे-धीरे चूसने से हीचकी से राहत मिलती है।
  5. लौंग की चाय का सेवन भी हीचकी से तुरंत राहत देता है।
  6. तुरंत राहत पाने के लिए नींबू के टुकड़े के ऊपर काला नमक लगाकर इसे धीरे-धीरे चूसने से राहत मिलती है।
निष्कर्ष

तो यह थे हीचकी रोकने के उपाय की संपूर्ण जानकारी जिसका उपयोग करके आप हिचकी की समस्या से राहत पा सकते हैं. आज के इस लेख के शुरुआत में ही हमने आप सबके साथ इस बात को साझा किया था कि हिचकी की समस्याएं आम समस्या है जिससे आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है पर अगर आपको 2 या 3 दिन से ज्यादा लगातार हिचकी आ रही हो तब आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए क्योंकि डॉक्टर्स भी कहते हैं कि कभी कबार हिचकी आना एक सामान्य घटना है पर अगर आपको 2 या 3 दिन तक लगातार हिचकी आ रही हो तो यह स्वस्थ्य संबंधी समस्या हो सकती है. इसलिए अपने डॉक्टर से सलाह मशवरा करके ही इन उपायों का उपयोग करें।

अगर आप सभी को हमारा आज का यह आर्टिकल पसंद आया हो तो मैं अभी सब से रिक्वेस्ट करूंगा कि हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि वह भी अपनी हिचकी की समस्या का समाधान पा सके और अगर हमारे इस आर्टिकल को लेकर आपके कोई सवाल है तो आप हम नीचे कमेंट करके अपने सवाल हमसे पूछ सकते हैं हम आपके हर सवालों का जवाब जल्द से जल्द देने की पूरी कोशिश करेंगे।

पेट की गैस को जड़ से खत्म करने के उपाय, 15 देसी और घरेलु नुस्खे

नये बाल उगाने के उपाय, 15 घरेलू उपाय जिनसे सिर्फ 1 महीने में उगे नये बाल

पिंपल के दाग हटाने के उपाय, 14 सरल और असरदार उपाय

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)
हीचकी रोकने के लिए क्या करें?

हिचकी एक सामान्य बीमारी है और इसे रोकने के लिए आप घरेलू सामग्रियों का सेवन कर सकते हैं जैसे कि तुलसी, काली मिर्च, लॉन्ग, शहद, हींग, अदरक, नींबू. इन कुदरती सामग्रियों का उपयोग करके आप हीचकी को तुरंत रोक सकते हैं।

हिचकी रोकने के लिए कौन सी दवाई लें?

हीचकी रोकने के लिए आयुर्वेदिक दवाई को सबसे उत्तम माना गया है. हिचकी से तुरंत राहत पाने के लिए आप चित्रकादि वटी ले सकते हैं।

हीचकी आने का क्या मतलब होता है?

हम हमेशा से सुनते आए हैं कि जब भी हमें हीचकी आती है यानी कोई हमें याद कर रहा है, पर इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी है जब हमारे शरीर में मौजूद डायग्राम सिकुड़ने लगता है या डायग्राम पर दबाव पड़ता है तब हमारी सांस लेने की प्रक्रिया पर असर पड़ता है जिस वजह से हमें हीचकी आती है।

हीचकी रोकने के लिए कौन सा योगा करें?

हीचकी आना एक सामान्य प्रक्रिया है जिसके लिए आपको किसी भी प्रकार की योगा की आवश्यकता नहीं है, पर फिर भी अगर आप चाहे तो आप अनुलोम विलोम का योगाभ्यास रोज सुबह कर सकते हैं।

तुरंत मोटा होने के उपाय वजन बढ़ने और मज़बूत शरीर के लिए 12 देसी उपाय

बालों को जल्दी लम्बा करने के उपाय, 18 घरेलू उपाय

चेहरे का कालापन हटाने के उपाय, कालापन दूर करने के 16 उपाय

रूसी को जड़ से खत्म करने के उपाय, 15 देसी घरेलु नुस्खे और उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *